ऑडियो

यदि हम परमेश्वर से प्रेम करते हैं,
तो हमें परमेश्वर की आज्ञाओं को मानना चाहिए।
सब्त का दिन परमेश्वर की आज्ञा है और साथ ही पवित्र दिन है
जो परमेश्वर और परमेश्वर के लोगों के बीच एक चिन्ह है।
और वह आशीषित दिन भी है
जिसके द्वारा हम पापों की क्षमा पाकर जिसे हमने स्वर्ग में किया,
परमेश्वर के लोगों के रूप में अनन्त विश्राम में प्रवेश कर सकते हैं।
(बाइबल में संपूर्ण प्रमाण: सब्त का दिन सातवां दिन, शनिवार है)